ER Publications

Thomson Researcherid Journals | UGC Approved Journals | Online & Print Journals | Refereed Journals | Peer Reviewed Journals
Publish Your Research Papers, Books, Thesis and Conference Proceedings with proper ISSN and ISBN with one of the top International Publication Platform......

Health Education

Author Name : Dr. Subhash Chander

Publisher Name : ER Publications, India

ISBN-No.: 978-81-933004-5-9

Download Book

मनुष्य को अच्छा जीवन व्यतीत करने के लिए उसका अच्छा स्वास्थ्य अति आवश्यक है। स्वास्थ्य उसके जीवन के सभी पहलुओं को प्रभावित करता है। देश का भविष्य तथा आत्मनिर्भरता भी देश के स्वस्थ्य नागरिकों पर आधारित होता है। वास्तव में व्यक्ति का स्वास्थ्य उसकी धन-दौलत से भी अत्यन्त मूल्यवान है। भारत के प्रथम प्रधानमन्त्री पंडित जवाहर लाल नेहरू ने कहा था कि ‘आज का स्वस्थ बच्चा कल का नेता है। इसलिए आधुनिक युग में स्वास्थ्य शिक्षा की आवश्यकता तथा उसके महत्व में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है।
 
स्वास्थ्य शिक्षा से ही व्यक्ति को उसकी शारीरिक, मानसिक, सामाजिक स्वस्थतता एवं स्वच्छता का पूर्ण ज्ञान प्राप्त होता है। स्वास्थ्य शिक्षा व्यक्ति के चरित्र निर्माण और उसके व्यवहार एवं व्यक्तित्व में पूर्ण रूप से निखार लाने का एक सुगम साधन है। स्वास्थ्य शिक्षा के बिना व्यक्ति का जीवन एक प्रकार से सूना सा रह जाता है। इसलिए स्वास्थ्य शिक्षा ही व्यक्ति की जीवन शैली में सुधार लाने और उसकी सर्वांगीण प्रगति का एक सरल तथा सीधा रास्ता है। वास्तव में स्वस्थ शरीर में स्वस्थ मन का निवास होता है।
 
इस पुस्तक में स्वास्थ्य शिक्षा सम्बन्धी सभी विषयों का विस्तार से वर्णन करते हुए उनका 18 अध्यायों में सामूहिक रूप से समावेश किया गया है। हरियाणा के सभी विश्वविद्यालयों द्वारा स्वास्थ्य शिक्षा के निर्धारित पाठ्यक्रम को सम्मिलित किया गया है। सीधी तथा सरल भाषा का प्रयोग करते हुए विद्यार्थियों के विषय-ज्ञान का विशेष ध्यान रखा गया है। अनेक स्वास्थ्य शिक्षाविदों द्वारा लिखी गई पुस्तकों के अध्ययन उपरान्त सभी विषयों का विद्यार्थियों, शोधकत्र्ताओं तथा माननीय शिक्षक गण की सुविधा एवं आवश्यकता पूर्ति के लिए विस्तार से वर्णन करने का भी प्रयास किया गया है।
मैं विशेष तौर पर अपने आदरणीय पिता जी तथा शिक्षकों का आभारी हूँ जिन्होंने इस पुस्तक के लिखने में मुझे पूर्ण सहयोग, प्रोत्साहन तथा मार्गदर्शन दिया है। मैं अपनी पत्नी श्रीमति सुजाता का भी धन्यवादी हूँ जिसने मुझे घरेलू उत्तरदायित्वों से निवृत करके इस पुस्तक को लिखने के लिए पर्याप्त समय दिया। इसी प्रकार मैं इस पुस्तक के प्रकाशक के प्रति भी अत्यन्त आभारी हूँ, जिन्होंने अपने निरन्तर परिश्रम एवं लग्न से इस पुस्तक को समय पर उपलब्ध कराया है।
इस पुस्तक के सभी पाठकों से मेरा सादर अनुरोध है कि वे अपने मूल्यवान, सुझाव भेजें ताकि आवश्यकतानुसार सभी त्रुटियों को दूर करके उन्हें अगले संस्करण में सम्मिलित किया जा सके।
 
डाॅ॰ सुभाष शर्मा
लेखक